बिलासपुर आबकारी की बड़ी कार्रवाई… स्काटलैंड से 12 हजार से लेकर 35 हजार 440 रुपए बॉटल वाली महंगी शराब बिलासपुर पहुंची… सीआरपीएफ और पुराने शराब ठेकेदार का पंडा निकला तस्कर… देखिए पकड़ी गई शराब की रेट लिस्ट…

बिलासपुर। आबकारी विभाग की टीम ने स्काटलैंड से महंगी शराब के साथ दो आरोपियों को पकड़ा है। खास बात यह है कि 12320 रुपए से लेकर 35440 रुपए बॉटल वाली शराब बरामद हुई है। इतनी कीमती शराब का ग्राहक प्रदेश सरकार के पास नहीं है, जबकि तस्करों के पास ऐसे ग्राहक हैं। आबकारी विभाग ने लाखों रुपए कीमती शराब के साथ आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

आबकारी उपायुक्त नीतू नोतामी ठाकुर ने बताया कि पूरे मामले में सीआरपीएफ का जवान शामिल है। सीआरपीएफ का जवान आईडी के दम पर शराब को बाहरी राज्य से लाकर रायपुर और बिलासपुर में खपाने का काम काम लंबे समय कर रहा था। उन्होंने बताया कि 15 जनवरी को आबकारी इंस्पेक्टर मुकेश पाण्डेय को मुखबिर से सूचना मिली कि पानीपत से महंगी शराब नेहरू नगर स्थित मनोज खन्ना के घर लाया जा रहा है। इसके बाद टीम को मौके पर तैनात किया गया। मनोज खन्ना को मुकेश पाण्डेय और उसकी टीम ने शराब की बोतल निकालते देते हुए रंगे हाथों पकडा। मनोज खन्ना के पास से टीम ने 12 बोतल शराब बरामद की, जिसकी कुल कीमत करीब 2 लाख 27 हजार 106 रूपए है।

मनोज खन्ना ने उगला राज

आबकारी उपायुक्त नीतू ठाकुर ने बताया कि पूछताछ के लिए मनोज खन्ना को कन्ट्रोल रूम लाया गया। इसी बीच उसके मोबाइल पर एक फोन आया, जिससे जानकारी मिली कि रायपुर से कुछ लोग स्काटलैण्ड की शराब पानीपत के रास्ते बिलासपुर देने आ रहे हैं। फोन के आधार पर रायपुर से आने वाले तस्करों को रणनीति बनाकर घेरा गया। इसी बीच मनोज खन्ना ने बताया कि फोन करने वाला व्यक्ति सीआरपीएफ का जवान है। सीआरपीएफ जवान का नाम गणेश कुमार जैन है। देर रात्रि रायपुर से सेन्ट्रो कार में भारी मात्रा में लायी गयी शराब को बिलासपुर मेंं घेरकर पकडा गया। कार में सीआरपीएफ जवान गणेश कुमार के अलावा विजय अरोरा को भी धर दबोचा गया। विजय अरोरा शराब तस्करी में पुराना और कुख्यात नाम  है। जो नाम बदलकर शराब तस्करी करता है। विजय अरोरा को राहुल और नरेश के नाम से भी जाना जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.