बिलासपुर: ठेला के पीछे में 12 वर्षीय बच्चे ने फांसी लगाकर आत्महत्या की… माता करती है झाड़ू-पोंछा का काम…

बिलासपुर। शनिचरी के दुकान के पीछे 12 साल के बच्चे का शव फांसी पर लटकता मिला है। फांसी लगाने के कारण का पता नहीं चला है। पुलिस ने उसके जेब से बोनफिक्स जब्त किया है। एक दिन पहले भी सिटी कोतवाली क्षेत्र में 12 साल के बच्चे का शव फांसी के फंदे पर मिला था। सरकंडा पुलिस मर्ग कायम कर मामले की जांच कर रही है। सरकंडा थाना प्रभारी परिवेश तिवारी ने बताया कि गोपाल अहिरवार पिता शत्रुहन 12 वर्ष की मां कुम्हार पारा के घरों में जाकर झाड़ू पोछा और बर्तन धोने का काम करती है। दो साल पहले गोपाल के पिता शत्रुहन की मौत के बाद उसकी मां ने दूसरी शादी कर ली थी। तब से गोपाल अकेला रहता था। घूम-घूमकर प्लास्टिक, व कबाड़ के सामान बेचता था। फुटपाथ में सोकर जीवन गुजार रहा था। गोपाल ने घर जाना भी छोड़ दिया था। साथ ही वह नश्ो का आदी हो चुका था। बोनफिक्स खरीदकर नशा भी करने लगा था। शनिवार को रविवार को सुबह रविवार की -सुबह चांटीडीह सब्जी मंडी के पास ठेला के एंगल में गोपाल का शव फांसी के फंदे पर झूल रहा था। आसपास के लोगों ने इसकी सूचना पुलिस को दी है। इस पर पुलिस की टीम और फोरेंसिक एक्सपर्ट को मौके पर पहुंचे। शव को पीएम के लिए मरच्यूरी भ्ोज दिया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.