बिलासपुर: कलेक्टर शिखा राजपूत तिवारी ने किया मरवाही विकासखंड के विभिन्न ग्रामों का भ्रमण… उचित मूल्य दुकान और फसल कटाई का लिया जायजा…

बिलासपुर। कलेक्टर शिखा राजपूत तिवारी ने आज जिले के मरवाही विकासखण्ड के विभिन्न ग्रामों का दौरा किया तथा विकास कार्यों का अवलोकन किया। उन्होंने हितग्राहीमूलक योजनाओं के क्रियान्वयन का जायजा लिया तथा फसल कटाई का निरीक्षण करते हुए कोरोना वाइरस संक्रमण के बचाव के संबंध में आवश्यक दिशानिर्देश उपस्थित अधिकारियों को दिए।

कलेक्टर ने मरवाही विकासखण्ड के ग्राम भर्रीडांड में सार्वजनिक वितरण प्रणाली अंतर्गत संचालित उचित मूल्य दुकान का निरीक्षण किया।  उन्होंने स्टॉक पंजी का निरीक्षण किया तथा खाद्यान्न संग्रहण तथा वितरण की जानकारी ली। उन्होंने निर्धारित मूल्य पर ही खाद्यान्नों का वितरण सुनिश्चित करने निर्देशित किया तथा निर्धारित मूल्य से अधिक दर पर विक्रय करने पर कड़ी कार्यवाही की बात कही। उन्होंने पीडीएस दुकानों से राशन के वितरण के दौरान सोशल डिस्टेसिंग का पालन सुनिश्चित करने के निर्देश दिए।

उल्लेखनीय है कि कोरोना वायरस संक्रमण के फैलाव को रोकने लाकडाउन की स्थिति के समय राज्य सरकार ने सार्वजनिक वितरण प्रणाली के अंतर्गत गरीब परिवारों को अप्रैल और मई माह 2020 का चावल एकमुश्त वितरण का निर्देश दिया है,  जिसके तहत जिले के उचित मूल्य की दुकानों से राशन का वितरण किया जा रहा है।  गौरेला-पेंड्रा-मरवाही जिले में कलेक्टर शिखा राजपूत तिवारी के दिशानिर्देश पर जिले के उचित मूल्य दुकानों में अन्त्योदय, प्राथमिकता, निःशक्तजन, एकल निराश्रित, निराश्रित एवं अन्नपूर्णा श्रेणी के राशन कार्डधारी हितग्राहियों को अप्रैल एवं मई 2020 का चावल  वितरण किया जा रहा है।

कलेक्टर ने सभी राशनकार्डधारी उपभोक्ताओं को उचित मुल्य के दुकानों मेें खाद्यान्न वितरण के समय एक-दूसरे से कम से कम एक मीटर की दूरी बनाए रखने को कहा है। हितग्राहियों को कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए सोशल डिस्टेंसिंग के लिए दुकानों के सामने मार्क भी किया गया है जिसका पालन हितग्राही कर रहे है। उन्होंने उचित मुल्य के दुकानों मेें आने वाले प्रत्येक राशन कार्ड धारकों को हाथों की सफाई सेनिटाईजर अथवा साबुन से करनेे के लिए प्रेरित करने के भी निर्देश दिए।

कलेक्टर शिखा राजपूत तिवारी ने मरवाही विकासखंड के  ग्राम मनोरा में फसल कटाई प्रयोग का निरीक्षण किया। उन्होंने  नोवल कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव हेतु फसल कटाई के दौरान शासन द्वारा  जारी सोशल डिस्टेंसिन्ग तथा अन्य दिशानिर्देशों का पालन करने के लिए प्रेरित किया।
उन्होंने फसल कटाई एवं अन्य कृषि कार्य के दौरान कृषकों या मजदूरों के मध्य कम से कम 1-2 मीटर की दूरी रखते हुए कटाई का कार्य करने की समझाइश दी।

उन्होंने खेत आते जाते समय निर्धारित दूरी बनाकर चलने की अपील की और फसल कटाई के दौरान कृषकों को नाक, मुंह को कपड़ा, गमछा या मास्क से ढककर फसल कटाई कार्य करने की समझाइश दी। उन्होंने फसल कटाई में नियोजित व्यक्तियों या मजदूरों को बार बार अपने हाथ साबुन से धोने के लिए प्रेरित किया। कलेक्टर ने कहा कि ग्राम पंचायत स्तरीय दल फसल कटाई कार्य मे लगे व्यक्तियों की स्वास्थ्य संबंधी जानकारी लेने के साथ ही शासन द्वारा जारी सुरक्षा दिशानिर्देशों का पालन भी  सुनिश्चित कराएं।

उन्होंने कहा कि फसल कटाई यथासंभव मशीन चलित उपकरणों से की जाए। हस्त चलित कटाई उपकरण काम में लेने पर उपकरणों को दिन में कम से कम 3 बार साबुन के पानी से कीटाणु रहित करें। एक व्यक्ति द्वारा काम लिए जाने वाले उपकरण को दूसरा व्यक्ति काम में न ले। कटाई करने वाले सभी व्यक्ति अपने-अपने उपकरण से ही काम करे। कटाई कार्य अवधि में पहले दिन पहने कपड़े दूसरे दिन काम में न लें। काम में लिए कपड़ों को अच्छी तरह धोकर धूप में सुखाने के पश्चात ही पुनः उपयोग किया जाए। कटाई करने वाले सभी व्यक्ति मास्क का प्रयोग करें। अगर किसी व्यक्ति को खांसी, जुखाम, बुखार, सर दर्द, बदन दर्द आदि के लक्षण हैं तो उसे फसल कटाई कार्य से अलग रखें तथा तत्काल अपने निकटतम स्वास्थ्यकर्मी को सूचित करें। इस अवसर पर खाद्य तथा कृषि विभाग के अधिकारीगण उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.