स्वच्छता में बजा एक बार फिर बिलासपुर का डंका… पूरे देश में 11वां स्थान… प्रदेश में तीसरा स्थान…महापौर ने शहरवासियों को बधाई… टीम वर्क का नतीजा- कमिश्नर…  जानिए बिलासपुर   ने कैसे लहराया परचम…

बिलासपुर। स्वच्छता में एक बार फिर बिलासपुर ने अपना परचम लहराया है,स्वच्छ सर्वेक्षण 2020 में अभूतपूर्व प्रदर्शन करते हुए पूरे देश में 11 वां स्थान हासिल किया है और छत्तीसगढ़ का तीसरा सबसे स्वच्छ शहर बना है। आज केंद्रीय शहरी विकास एवं आवास मंत्री श्री हरदीप पुरी के द्वारा स्वच्छ सर्वेक्षण 2020 के परिणामों की घोषणा की गई,जिसमें बिलासपुर शहर को एक से दस लाख तक के आबादी वाले शहरों में देश का 11 वें नंबर का सबसे साफ-सुथरा शहर घोषित किया गया। पिछले बार के सर्वेक्षण में बिलासपुर का ओवर आॅल रैंक 28 था,जिसमें इस बार छलांग लगाते हुए बिलासपुर ने 19 वां स्थान हासिल किया है।

देश भर के 4242 शहरों का सर्वेक्षण किया गया था, जिसमें टाॅप 25 में जगह बनाते हुए बिलासपुर नगर निगम ने यह उपलब्धि हासिल की है। स्वच्छ सर्वेक्षण 2020 की शुरुआत पिछले साल जुलाई से शुरू किया गया था. जिसमें अलग-अलग चरणों में केंद्र सरकार द्वारा गठित टीम के द्वारा सर्वेक्षण किया था,जिसके परिणाम आज घोषित किए गए है।
सर्वेक्षण की घोषणा के साथ ही कमिश्नर श्री प्रभाकर पाण्डेय ने एक अलग टीम गठित कर सर्वेक्षण की तैयारियों के लिए टीम को काम में लगा दिया था। इससे पूर्व बिलासपुर को गार्बेज फ्री सिटी में 3 स्टार का दर्जा प्रदान किया गया था। ओडीएफ++ का तमगा बिलासपुर को पहले ही हासिल है।

बिलासपुर ने ऐसे लहराया अपना परचम

6 हजार में 4875 नंबर हासिल किए

सर्वेक्षण के तहत केंद्र सरकार द्वारा अलग-अलग मापदंडों में 6 हज़ार नंबर निर्धारित किए गए थे, जिसमें उत्कृष्ट प्रदर्शन करते हुए बिलासपुर नगर निगम ने सिटीजन फीडबैक में 1500 में 1211.65 नंबर हासिल किया,डायरेक्ट आॅब्ज़र्वेशन में 1500 में 1422.13 नंबर हासिल किया तो वहीं बिलासपुर निगम को सर्टिफिकेशन में 1500 में 1100 नंबर मिले,सर्विस लेवल प्रोसेस में 1500 में 1141.96 नंबर मिला है। कुल मिलाकर 6000 में बिलासपुर नगर निगम को 4875.74 नंबर मिला।

60 हज़ार घरों से डोर टू डोर कलेक्शन,मैन्युअल और मैकेनाइज्ड सफाई

नगर निगम द्वारा शहर के 60 हजार 601 घरों से प्रति दिन डोर टू डोर कचरा कलेक्शन किया जाता है। कचरा संग्रहण के बाद उपचार हेतु आरडीएफ प्लांट ले जाया जाता है, आरडीएफ प्लांट में गीले कचरे से खाद बनाने का कार्य तथा सूखे कचरे से आरडीएफ बनाने का कार्य किया जाता है। इसी तरह शहर को साफ-सूथरा रखने के लिए ठेका कंपनी के ज़रिए सफाई वीरों के द्वारा सफाई के अलावा मशीन से भी शहर के मुख्य मार्गों की सफाई की जाती है। अत्याधुनिक तरीके से यह सफाई कार्य दिन के साथ रात में भी की जाती है,इसके लिए बकायदा एक कमांड एवं कंट्रोल रूम भी बनाया गया है।

कमियों को सुधार कर रैंक में इजाफ़ा किया

पिछले वर्ष 2019 में नगर निगम बिलासपुर को 28 वां स्थान प्राप्त हुआ था, जबकि 2018 के सर्वेक्षण में 22 वां स्थान मिला था।गत वर्ष के सर्वेक्षण में पीछे होने का मुख्य कारण सिटीजन फीडबैक में कमी और रेलवे क्षेत्र में कमी होने के कारण कम अंक प्राप्त हुए थे इस बार कमियों को सुधारते हुए रेल प्रशासन के साथ समन्वय बनाकर काम किया गया। तो वहीं सिटीजन फीडबैक के लिए जगह-जगह पर प्रचार प्रसार किया गया।

निदान एवं स्वच्छता एप के ज़रिए समाधान

स्वच्छता संबधी समस्या के आनलाइन समाधान के लिए राज्य सरकार द्वारा जारी निदान नंबर 1100 और केंद्र सरकार द्वारा जारी स्वच्छता एप के माध्यम से बिलासपुर नगर निगम ने समय सीमा के भीतर प्राप्त शिकायतों का बेहतर ढंग से निराकरण किया। जिसके कारण नंबर भी अच्छे मिलें।

लोगों को जागरूक करने चलाया अभियान

स्वच्छ सर्वेक्षण के शुरूआत से ही बिलासपुर नगर निगम ने कमिश्नर श्री प्रभाकर पाण्डेय के निर्देश पर आमजन को जागरूक करने कई तरह के अभियान चलाया। जिसमें एक स्वच्छ प्रतियोगिता का आयोजन भी किया,जिसका नाम “बिलासपुर स्टार्स” रखा गया। इस प्रतियोगिता के तहत अंतर्गत स्वच्छ मोहल्ला,स्वचछ स्कूल,स्वच्छ कालेज,स्वच्छ होटल, स्वच्छ अस्पताल,स्वच्छ बाज़ार,स्वच्छ गणेश पंडाल का चयन किया गया। इस प्रतियोगिता के लिए पूरे शहर में ट्रॉफी से सुसज्जित स्वच्छता रथ को भ्रमण कराया गया था।इसके अलावा प्लास्टिक मुक्त बिलासपुर बनाने के लिए बाज़ार और चौक चौराहों पर कार्यक्रम आयोजित किए गए। साथ ही शहर भर में बैनर-पोस्टर तथा स्वच्छता संबंधी वाॅल पेंटिंग कराया गया। इसके साथ ही सोशल मीडिया को भी हथियार बनाकर निगम द्वारा लोगों को जागरूक किया गया।

पहली बार गार्बेज फेस्टिवल आयोजित किया गया

स्वच्छता को एक जनआंदोलन बनाने के लिए बिलासपुर नगर निगम द्वारा शहर में पहली बार गार्बेज फेस्टिवल आयोजित किया गया। लाल बहादुर शास्त्री स्कूल में आयोजित कार्यक्रम में स्वच्छता पर आधारित शाला स्तरीय प्रतियोगिता कराई गई,जिसमें ड्राइंग पेंटिंग,निबंध प्रतियोगिता, रंगोली प्रतियोगिता,प्लास्टिक पर शार्ट विडियों फिल्म शामिल रहें.इसके अलावा स्कूली बच्चों ने इसमें प्रदर्शनी भी लगाई थी।

शहरवासियों को बधाई-महापौर

स्वच्छता में बेहतर प्रदर्शन करने पर महापौर श्री रामशरण यादव ने शहरवासियों और निगम कर्मियों को बधाई देते हुए कहा की यह उपलब्धि सामूहिक प्रयास का नतीजा है,आमजन के सहयोग के बगैर संभव नहीं था। इस उपलब्धि से हमें भविष्य में और भी बेहतर कार्य करने की प्रेरणा मिलेगी।

टीम वर्क का नतीजा- कमिश्नर

ननि आयुक्त श्री प्रभाकर पाण्डेय ने निगम की टीम को बधाई देते हुए कहा की “यह उपलब्धि बेहतर टीम वर्क और जनता के सहयोग का परिणाम है,भविष्य में हम और भी उत्कृष्ट प्रदर्शन करें, इसके लिए प्रयास जारी रखेंगे”

Leave a Reply

Your email address will not be published.