छत्तीसगढ़: सुबह से लगा रहे लाइन, फिर भी नहीं लग पा रहा टीका, आनलाइन व्यवस्था में लगेगा समय…

रायपुर। राजधानी के टीकाकरण केंद्रों में भीड़ और अव्यवस्था लगातार नज़र आ रही है। स्थिति यह है कि कई हितग्राहियों को सुबह जल्दी लाइन में लगने के बाद भी टोकन नहीं मिल पा रहा है। वहीं, इसके चलते कोरोना संक्रमण का खतरा भी बढ़ गया है।

स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक आनलाइन पंजीयन के लिए पोर्टल पर काम तो कर रहा है। लेकिन इसमें समय लगने वाला है। अधिकारियों का कहना है कि 18 से 44 आयु वर्ग के हितग्राहियों की संख्या अधिक होने की वजह से यह समस्या आ रही है। आनलाइन पंजीयन की प्रक्रिया शुरू होने से भीड़ में कमी आएगी। इधर पंडित दीनदयाल आडिटोरियम में टीका लगाने गए एनआइटी के प्रोफेसरों को फ्रंट लाइन वर्कर में नाम न होने की बात कहकर उन्हें लौटा दिया गया।

केंद्र में कहा गया कि राज्य सरकार ने सरकारी कर्मचारियों को ही फ्रंट लाइन वर्कर्स माना गया है। इसके चलते एनआइटी रायपुर से कई प्रोफेसरों को वापस लौटना पड़ा है। एनआइटी के प्रोफेसर सुबह आठ बजे से केंद्र टिक लगाने पहुंच गए थे। पंजीयन के दौरान उनके आइडी कार्ड देखकर फ्रंट लाइन वर्कर न होने की बात कही गई। इसके अलावा जिनके आधार कार्ड में पता किसी दूसरे जगह का है। उसे भी वापस लौटाया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.