छत्तीसगढ़: तीन हथनियों की मौत की घटना की होगी जांच… राज्य स्तरीय जांच समिति का गठन.. 30 दिनों के भीतर पेश करना होगा जांच प्रतिवेदन…

रायपुर। राज्य शासन में राज्य में 3 हथिनियों की असामयिक मृत्यु को दृष्टिगत रखते हुए इसकी विस्तृत जांच के निर्देश दिए हैं। घटना की विस्तृत जांच के लिए सेवानिवृत्त प्रधान मुख्य वन संरक्षक केसी  बेवर्ता की अध्यक्षता में 5 सदस्यीय राज्य स्तरीय जांच समिति का गठन भी कर दिया है।

शासन द्वारा जांच के बिन्दु तय करते हुए गठित राज्य स्तरीय जांच समिति को अपना जांच प्रतिवेदन 30 दिवस के भीतर राज्य शासन को प्रस्तुत करने के निर्देश भी दिए हैं। उल्लेखनीय है कि छत्तीसगढ़ राज्य के अंतर्गत सरगुजा वृत्त के सूरजपुर वनमण्डल में दो और बलरामपुर वनमण्डल में एक सहित कुल तीन हथिनी की मृत्यु की घटना घटित हुई है।

वन विभाग द्वारा मंत्रालय से सोमवार को जारी आदेश के अनुसार गठित राज्य स्तरीय जांच समिति का सचिव अपर प्रधान मुख्य वन संरक्षक (वन्य प्राणी) अरुण पाण्डे को बनाया गया है। जांच समिति के सदस्यों में वरिष्ठ पशु चिकित्सक (वाईल्ड लाईफ) डॉ. राकेश वर्मा, वाईल्ड लाईफ एक्सपर्ट विशेषज्ञ डॉ. आर.पी. मिश्रा और वरष्ठि अधिवक्ता डॉ. देवा देवांगन को शामिल किया गया है।

राज्य शासन द्वारा निर्धारित जांच के पांच बिन्दुओं – मृत्यु के कारण एवं परिस्थितियां ?, क्या किसी स्तर पर चूक हुई है, यदि हां तो उत्तरदायित्व ?, क्या इसे रोका जा सकता था ?, ऐसा कोई बिन्दु जो जांच के दौरान समिति के समक्ष आता है और जिसकी जांच समिति आवश्यक समझे। भविष्य में ऐसी घटनाओं की पुनरावृत्ति को रोकने के लिए क्या उपाय किए जाने चाहिए? को शामिल किया गया है। गठित राज्य स्तरीय जांच समिति अपना प्रतिवेदन 30 दिवस के भीतर राज्य शासन को प्रस्तुत करेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.