छत्तीसगढ़: 45 लाख परिवारों के घरों तक पहुंचेगा पानी… 5 लाख से अधिक घरों तक पहुंचा नल…

रायपुर। नल जल योजना के तहत इस वर्ष राज्य में 45,48,080 परिवारों के घरों में नल कनेक्शन उपलब्ध कराने का लक्ष्य है. इसमें 5,66,614 घरों में नल पहुंच गया है। पीएचई सचिव सिद्धार्थ कोमल परदेशी ने गुरुवार को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के आवास कार्यालय में हुई समीक्षा बैठक में यह जानकारी दी. मुख्यमंत्री ने प्रदेश के पेयजल समस्या उन्मुख विकास खण्डों सहित औद्योगिक एवं खनिज क्षेत्रों में लोगों को स्वच्छ पेयजल आपूर्ति के लिये सतही जल आपूर्ति की योजना तैयार करने के निर्देश दिये हैं.

उन्होंने कहा कि इन क्षेत्रों में भूजल के दोहन से स्थिति विकट होती जा रही है। बैठक में मुख्यमंत्री ने जन स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के अधिकारियों को पेयजल में भारी धातु की मात्रा की जांच के लिए उचित व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिये. वहीं पीएचई मंत्री गुरु रुद्रकुमार ने प्रदेश में पेयजल आपूर्ति की अद्यतन व्यवस्था एवं जल जीवन मिशन के कार्यों की प्रगति की विस्तृत जानकारी दी.

सचिव परदेशी ने पावर प्वाइंट प्रेजेंटेशन के माध्यम से बताया कि प्रदेश में इस समय 2,83,653 हैंडपंप, 4097 नलजल योजना चालू है. इसमें से 11,160 हैंडपंप और 1178 नल जल योजनाएं पिछले ढाई साल में लगाई गई हैं. मिनीमाता अमृत धारा योजना के तहत 73,584 घरेलू नल कनेक्शन दिए गए हैं।

प्रदेश के ऐसे क्षेत्रों में जहां भूजल पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध नहीं है वहां पेयजल आपूर्ति के लिए वर्तमान में सामूहिक जलापूर्ति योजनाओं एवं नल जल आपूर्ति योजनाओं के निर्माण की कार्रवाई की जा रही है ताकि सतही स्रोतों से पेयजल उपलब्ध कराया जा सके. बैठक में कृषि मंत्री रवींद्र चौबे, पीएचई मंत्री गुरु रुद्रकुमार, मुख्य सचिव अमिताभ जैन, अपर मुख्य सचिव सुब्रत साहू समेत अन्य वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published.