लोरमी विधायक ने एटीआर और जल आवर्धन योजना पर कलेक्टर से की मुलाकात, वनवासियों को मूलभूत सुविधाएं देने की मांग

मुंगेली। अचानकमार टाइगर रिजर्व के वन अधिकारियों ने सरकार की अन्य एजेंसियों द्वारा किए जा रहे निर्माण कार्य को रोक दिया है, जिससे वनवासी समुदाय को कई सुविधाओं से वंचित रहना पड़ रहा है। लोरमी विधायक धर्मजीत सिंह ने मुंगेली कलेक्टर पीएस एल्मा से मुलाकात कर इस मामले पर उचित निर्णय हेतु शिकायत की है।

शिकायत पत्र के माध्यम से विधायक सिंह ने बताया कि अचानकमार टाइगर रिजर्व (एटीआर) में केवल उन्हीं एजेंसियों को कार्य करने दिया जा रहा है जिसका निर्माण एटीआर ने खुद किया है। इसके अलावा वनवासियों को पेयजल, बिजली और स्वास्थ्य संबंधी सुविधाओं को लेकर किए जा रहे कामों को रोक दिया गया है। विस्थापन की कार्ययोजना भी अब तक पूर्ण नहीं हुई है। ऐसे में स्थानीय वनवासियों की आवाज बनकर विधायक सिंह ने मुंगेली कलेक्टर को समस्या से अवगत कराया है। जमीनी हकीकत सामने लाने का प्रयास छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस के प्रतिनिधि कर रहे हैं। विधानसभा में भी यह मुद्दा उठाने की बात विधायक ने की है। वनवासियों को मूलभूत आवश्यकताओं से दूर रखना संविधान द्वारा प्राप्त मूल अधिकारों का हनन है।

जल आवर्धन योजना आरंभ करने की मांग

इस दौरान विधायक सिंह ने कलेक्टर से यह भी मांग रखी कि 13 करोड़ की लागत से स्वीकृत जल आवर्धन योजना अब तक आरंभ नहीं की गई है। इस कार्य के प्रगति में आने वाली बाधाओं को खत्म कर जल्द ही योजना का शुभारंभ किया जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.