मेड़पारा में 70 से अधिक गायों की मौत… मौके पर पहुंचे मेयर रामशरण व सभापति नजीरुद्दीन… – पंच- सरपंच वर ग्रामीणों से घटना के संबंध में की चर्चा… कहा- दोषी कोई भी हो… होगी कार्रवाई…

बिलासपुर। तखतपुर विधानसभा के हिर्री थाना अंतर्गत ग्राम मेड़पार बाजार में 70 से अधिक गायों की मरने की सूचना मिलते ही महापौर रामशरण यादव व सभापति शेख नजीरुद्दीन मौके पर पहुंचे। यहां के पंच-सरपंच और ग्रामीणों से घटना को लेकर विस्तार से जानकारी ली। उन्होंने मौके से ही कलेक्टर व जिला पंचायत सीईओ से बात की और कहा कि घटनाक की जांच कर दोषियों के ऊपर कड़ी की जाए।

ग्राम मेड़पार बाजार में 70 से ज्यादा गायों की दम घुटने से मौत हो गई। गौठान को पुराने जर्जर भवन में पंचायत की ओर से अस्थाई रूप से बनाया गया है। वहीं बने एक कमरे में गंदगी के बीच गायों को बंद कर रखा गया था। बदबू फैलने के बाद शनिवार सुबह ग्रामीणों को इसका पता चला। इसके बाद से हंगामा शुरू हो गया है। मामला तखतपुर ब्लॉक के मेड़पार गांव का है। जानकारी के मुताबिक हिर्री थाना क्षेत्र के ग्राम मेड़पार बाजार में पंचायत की ओर से आवारा पशुओं को रखने के लिए एक पुराने जर्जर भवन में अस्थाई गौठान बनाया गया है। यहां पर 100 से ज्यादा गायों को एक अंधेरे कमरे में बंद कर रखा गया था, जिसके कारण 70 से अधिक गायों की मौत हो गई।

आसपास सड़न और बदबू फैलने से शनिवार को जब लोगों ने कमरे का दरवाजा खोला तो वहां गायों के शव पड़े हुए थे। इसकी सचना मिलते ही आसपास के गांवों खलबली मच गई। प्रारंभिक जांच में ठूंस-ठूंसकर एक ही कमरे में भरने से मवेशियों की मौत होने की बात सामने आई है। एक साथ 70 से अधिक गोधन की मौत की सूचना मिलते ही नगर निगम के मेयर रामशरण यादव और सभापति शेख नजीरुद्दीन मौके पर पहुंचे।

उन्होंने आसपास के ग्रामीणों और पंच-सरपंच से घटना के संबंध में जानकारी ली। अस्थाई गौठाने में इतनी संख्या में एक साथ गायों की मौत को लेकर मेयर रामशरण यादव ने जमकर नाराजगी जाहिर की। उन्होंने कलेक्टर और जिला पंचायत सीईओ से घटना की जांच कर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.