मुंगेली: पुरानी पेंशन व्यवस्था को बहाल कराने अनोखा रास्ता अपनाया… कहा- पौधों से पर्यावरण का भविष्य है सुरक्षित… वैसे ही पेंशन से हम शिक्षकों का…

मुंगेली। पुरानी पेंशन व्यवस्था को सरकार से बहाल कराने के लिए शिक्षाकर्मियों (एलबी) ने अनोखा रास्ता अपनाया है। पौधरोपण और पोस्टर के माध्यम से पर्यावरण जागरूकता का संदेश देते हुए अपनी मांग को सरकार के सामने रखा है।

एसोसिएशन का कहना है कि पर्यावरण की सुरक्षा के साथ कर्मचारियों के भविष्य की सुरक्षा भी जरूरी है। जैसे वृक्ष हमारे भविष्य के लिए जरूरी है, वैसे ही पुरानी पेंशन भी बुढ़ापे के लिए जरूरी है। मनियारी नदी की स्वच्छता और सफाई का भी संकल्प लिया। इस दौरान अजय पन्ना,  मिल्लू राम यादव, धनंजय राजपूत, रामसिंह ठाकुर, पूनम राजपूत, दयाराम साहू, लाल सिंह राजपूत, आशुतोष मिश्रा,रवि लहरे, रामस्वरूप ध्रुव युगल किशोर राजपूत सुनील शर्मा, गिरीश राजपूत, कामेश्वर कश्यप, कृष्णा कांत द्विवेदी, राजा मिरी, आनंद गुप्ता रामनाथ कुलमित्र, सुरेंद्र कुमार राजपूत, संतोष साहू, रोशन सिंह राजपूत उपस्थित रहे।

प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री से करेंगे बात

पौधारोपण की सेल्फी और फ़ोटो लेकर सदस्यों ने इसे सोशल मीडिया और मुख्यधारा की मीडिया से शेयर किया है, ताकि पर्यावरण के प्रति सजगता के साथ ही पेंशन की मांग भी प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री तक पहुंचे। इन सदस्यों ने प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री से बात करने की इच्छा जाहिर की है। 

लोरमी के इन स्थानों पर लगाए पौधे

छत्तीसगढ़ टीचर्स एसोसिएशन लोरमी के सदस्यों ने एसडीएम कार्यालय, शासकीय महाविद्यालय लोरमी और बीईओ कार्यालय में पौधारोपण किया। पोस्टर और स्लोगन के माध्यम से अपनी मांगों को स्थानीय नागरिकों से साझा किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.