बिलासपुर मेयर रामशरण बोले- सूखे कचरे को बेचेंगे… गीले से बनाएंगे कम्पोस्ट खाद… निगम के नए 6 वार्डों में बनेंगे एसएलआरएम सेंटर…

बिलासपुर। नगर निगम बिलासपुर में जुड़े नए क्षेत्रों में 6 जगह एसएलआरएम सेंटर का निर्माण कराया जा रहा है। इसके लिए मंगलवार को मंगला में महापौर रामशरण यादव सभापति शेख नजीरुद्दीन ने भूमिपूजन किया।

महापौर रामशरण यादव ने बताया कि नए शामिल 6 वार्ड देवरीखुर्द, दोमुहानी, मंगला, परसदा, घुरु, और उसलापुर में बनने वाले एसएलआरएम सेंटरो में महिला स्व सहायता समूहों द्वारा डोर टू डोर निकलने वाले गीला और सूखा कचरा को अलगअलग करने कुल 6 जगहों में 127.90 लाख रुपए के लागत से एसएलआरएम सेंटर का निर्मण कराया जाएगा। इसके लिए मंगला में भूमिपूजन किया गया है। इस सेंटर के बनाने के पीछे मुख्य उद्देश्य कचरे को अलगअलग करना है। मंगला में इसके लिए 25 लाख रुपए से सेंटर बनाया जा रहा है।

उन्होंने बताया कि डोर-टू-डोर कचरा कलेक्शन के बाद, केंद्रों में गीला व सूखा कचरे की छंटनी होगी। सूखे कचरे को कबाड़ के रूप में बिक्री की जाएगी। वहीं गीले कचरे से कम्पोस्ट खाद बनाने की दिशा में काम किया जाएगा। उसके बाद नगरिकों को प्लास्टिक, डिस्पोजल के कचरे से मुक्ति मिलेगी। कर्मचारियों की टीम डोर-टू-डोर कचरा एकत्रित कर सेंटर में लाकर डंप करेगी। सूखे व गीले कचरे के लिए सेंटर में अलग से व्यवस्था होगी। जहां स्व.सहायता समूह की महिलाएं प्लास्टिक के बॉटल, ढक्कन, कांच, पॉलीथिन, डिस्पोजल समेत अन्य कचरे को अलग-अलग करेंगे। इच्छुक लोगों को इसकी बिक्री की जाएगी। वहीं गीला कचरा को एक टैंक में केचुआ के साथ डाल कर वर्मी कंपोस्ट खाद बनाया जाएगा, जिसे किसानों को बेचा जाएगा। भूमिपूजन कार्यक्रम में एमआईसी सदस्य अजय यादव, राजेश शुक्ला, वार्ड पार्षद श्याम पटेल, पार्षद सीमा धृतेश,  मुन्ना धुरी, राकेश, राजकुमार पटेल, दिलीप कक्कड़, भरत जुरयानी, अपर आयुक्त राकेश जायसवाल, पीके पंचायती, जोन कमिश्नर रमेश पाण्डेय, सहायक अभियंता सोमशेखर विश्वकर्मा, फरीद कुरैशी , ठेकेदार अंशुल कुमार जैन, नगर निगम के अधीकारी-कर्मचारी आदि उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.