बिलासपुर: पूर्व पार्षद गरीबों का निवाला छीनकर भर रहा था खुद का पेट… पांच वाहनों में बेचने ले जा रहा था पीडीएस का चावल… पार्षद के समर्थकों ने पकड़ा… खाद्य अधिकारी की भी मिलीभगत… मेयर ने कलेक्टर और एसपी तक पहुंचाई बात…

बिलासपुर। पार्षद के समर्थकों ने पीडीएस का चावल बेचने ले जा रहे वाहन को पकड़कर सिविल लाइन थाने को सौंपा है। बताया जा रहा है कि यह चावल पूर्व पार्षद के सोसाइटी से लोड किया गया था। आरोप है कि पूर्व पार्षद खाद्य अधिकारियों की मिलीभगत से गरीबों की चावल में डंडी मारता था और बचे हुए चावल को मार्केट में खपता था।

वार्ड क्रमांक 21 में उचित मूल्य की दुकान का संचालन पूर्व पार्षद अनुज टंडन करते हैं। उनकी दुकान से संबद्ध हितग्राहियों को तौल में कम चावल देने की हमेशा शिकायत रहती थी। कई हितग्राहियों को कुछ माह का चावल नहीं मिलने की शिकायत भी थी। शनिवार को उनकी सोसाइटी से चावल भरकर पांच डिलिवरी वाहन निकला, जिसे पार्षद सीमा घृतेश ने देख लिया। उन्होंने अपने समर्थकों को वाहन का पीछा करने कहा। समर्थकों ने वाहनों का पीछाकर रोक लिया। पूछताछ करने पर चालक ने कहा कि पूर्व पार्षद अनुज टंडन के कहने पर वह चावल को बेचने मार्केट जा रहा है। समर्थक चावल भरे सभी वाहनों को सिविल लाइन थाने ले गए और पार्षद को इसकी सूचना दी। बताया जा रहा है कि पुलिस ने चार वाहनों को छोड़ दिया। एक वाहन को थाने में खड़ा कराया गया है।

पार्षद सीमा घृतेश का आरोप है कि पूर्व पार्षद टंडन सालों से गरीबों का निवाला छीन रहे हैं। उनके पास भी कई हितग्राहियों ने शिकायत की है कि उन्हें एक-दो माह के अंतराल में पीडीएस का चावल दिया जाता है। कारण पूछने पर कहा जाता है कि इस माह चावल कम आया है। उन्होंने आरोप लगाया है कि यह खेल खाद्य अधिकारियों की मिलीभगत से चल रहा था। उन्होंने पूरे मामले की जानकारी मेयर रामशरण यादव को दी है।

गंभीर मामला है, जांच के लिए कलेक्टर से की गई है चर्चा: मेयर

मेयर रामशरण यादव का कहना है कि उन्हें वार्ड पार्षद सीमा घृतेश ने पूरे मामले की जानकारी दी है। कोरोना काल में गरीबों का निवाला छीनना गंभीर मामला है। उन्होंने कलेक्टर से चर्चा कर इस मामले की जांच कराने की बात कही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.