छत्तीसगढ़ ऑनलाइन गेमिंग फ्रॉड: 12 साल के बेटे ने खरीदा घातक ‘हथियार’… 3 माह में महिला के खाते से उड़ाए 3.22 लाख रुपए…

कांकेर। ऑनलाइन गेम (online games) अब बच्चों के साथ-साथ माता-पिता पर भी भारी पड़ रहे हैं। छत्तीसगढ़ (chhattisgarh) के (kanker) कांकेर में ऑनलाइन गेम को अपडेट करने की कोशिश में एक महिला के बैंक खाते से 3.22 लाख रुपये काट लिए गए. जब यह राशि खाते से कट गई, तो उन्हें इस धोखाधड़ी के बारे में पता चला और इसके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की। पुलिस ने छानबीन की तो पता चला कि 12 साल के लड़के ने गेम को अपडेट करने के लिए गेम में इस्तेमाल होने वाले हथियार खरीदे थे। महिला शिक्षिका है और 8 मार्च से 10 जून तक उसके खाते से 278 ट्रांजेक्शन हुए। इस दौरान उनके खाते से 3.22 लाख रुपये निकाले गए। 11 जून को महिला ने पुलिस में शिकायत की।

इसमें सोचने वाली बात यह रही कि पैसे कटने से पहले महिला के मोबाइल पर एक बार भी ओटीपी नहीं आया. इसके बाद बैंक ने जानकारी दी कि बैंक खाते से जुड़े मोबाइल नंबर से पैसे का लेन-देन किया गया है. इन पैसों का इस्तेमाल ऑनलाइन गेम (online games) खेलने और गेमिंग लेवल को अपग्रेड करने में किया गया। 12 साल का लड़का फ्री फायर (free fire) खेलता था। बच्चे के पूछने पर मामला सामने आया।

आपको बता दें कि पबजी, कॉल ऑफ ड्यूटी की तरह फ्री फायर गेम भी एक ऑनलाइन बैटल ग्राउंड गेम है। इसे अकेले या समूह में ऑनलाइन खेला जा सकता है। यह गेम भी फ्री है लेकिन इसमें प्लेयर को कोई सुविधा नहीं मिलती है। ठीक ऐसा ही मामला रायगढ़ से भी सामने आया था। इधर, ऑनलाइन गेमिंग के चक्कर में इतना अधिक उधार लिया कि 25 वर्षीय चमन खुंटे ने 17 वर्षीय छात्र लक्षेंद्र खुंटे की हत्या कर दी. छात्र का शव चार दिन बाद गांव से करीब तीन किलोमीटर दूर मिला था। छात्र के माता-पिता जम्मू-कश्मीर में मजदूरी करते थे और अपने दादा-दादी के साथ रहते थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.