रावतों के साथ थिरके मुख्यमंत्री भूपेश … बिलासपुर में 43 वाँ रावत नाच महोत्सव में गूँजे दोहे… महोत्सव में आने वाले सभी दलों को 5-5 हजार रुपए देने की सीएम ने की घोषणा…

बिलासपुर। 43 वाँ रावत नाच महोत्सव का आयोजन शनिवार को शहर के लाल बहादुर शास्त्री स्कूल मैदान में आयोजित हुए कार्यक्रम में प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू, नगरीय प्रशासन मंत्री शिव डहरिया सहित अन्य विधायक शामिल हुए ।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने भरनी परसदा के रावत नाच दल के राउतो के साथ गोल में शामिल होकर जमकर थिरके साथ ही दोहा परे। उनके साथ गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू, नगरीय प्रशासन मंत्री शिव डहरिया बिलासपुर महापौर रामशरण यादव भिलाई विधायक देवेंद्र यादव और प्रदेश कांग्रेस उपाध्यक्ष अटल श्रीवास्तव ने दोहा परते हुए गड़वा बाजा के धुन में रावत नाच महोत्सव में जमकर थिरके इसके बाद मंच पर अपने सम्बोधन में कहा कि रावत नाच और काक्षन, सोहाई तो पूरे प्रदेश के अलग अलग जगहा में होता हैं। लेकिन बिलासपुर में इसे भव्य आयोजन करते हुए इसे महोत्सव की तरह मनाया जाता हैं

उन्होंने कहा कि महापौर रामशरण यादव बता रहे थे कि पहले छोटे से बाजार के रूप में इसका शुरुआत पूर्व मंत्री स्व. श्री बीआर यादव और समिति के संयोजक कालीचरण यादव के प्रयाशो से यह महोत्सव 43 वे साल में आ पहुचा है। गाय के पालन का महत्व तो भगवान श्री कृष्ण के जन्म से ही हैं। लेकिन अब उनकी हालत चिंताजनक है ऐसे में हमारी सरकार गोठान, गोबर खरीदी सहित अन्य योजना चला कर गायों की पालन पोषण की योजना बनाई है इससे चरवाहों की इस्थिति में भी सुधार होगी।

 मुख्यमंत्री ने कहा कि बिलासपुर की इस विरासत को सहेज कर रखने के लिए शासन यहाँ आने वाले प्रत्येक राउत नाच दल को शासन की ओर से 5 हजार रुपए देने की घोषणा । वही महापौर रामशरण यादव ने अपने उद्बोधन में कहा कि बिलासपुर में 43 वाँ रावत नाच महोत्सव में मुख्यमंत्री जी शामिल हुए उनका आभार करता हूँ। लगातर समाज के सदस्य इसका आयोजन कर रहे है। इस वर्ष आयोजन को लेकर संसय थी फिर भी अलप काल में आयोजन की तैयारी पूरी की शहर की यह महोत्सव प्रदेश के साथ ही पूरे देश में प्रसिद्ध हैं हमारे यादव भाई यहाँ परंपरागत वेशभूषा में सज सवर कर अपनी कला और संस्कृति का प्रदर्शन करते है।

गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू ने कहा कि दुर्ग में बिलासपुर के रावत नाच महोत्सव की बात सुनी थी आज देख भी लिया। छत्तीगसढ़ की परंपरा को आज भी बिलासपुर में बखूबी सहेज कर रखी गई है इस दौरान संसदीय सचिव रश्मि सिंह, शहर विधायक शैलेष पांडे, जिला पंचायत अध्यक्ष अरुण सिंह चौहान, प्रदेश उपाध्यक्ष अटल श्रीवास्तव, एपेक्स बैक के चेयरमैन बैजनाथ चंद्राकर, कांग्रेस शहर अध्यक्ष प्रमोद नायक, कालीचरण यादव, कृष्ण कुमार यादव , धन्नू यादव, सतीश यादव, सहित नगर निगम के पार्षद और अन्य जनप्रतिनिध उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.