मरवाही उपचुनाव: गरमाने लगी सियासत… बिछ गई चुनावी बिसात… मोहरों पर मंथन और प्रचार का तरीका भी अलग… एक पार्टी ने चार नेताओं के चेहरे को किया फोकस…

बिलासपुर। मरवाही उपचुनाव को लेकर धीरे-धीरे राजनीतिक पार्टियां राजनीतिक रंग में रंगने लगी है। माहौल के अनुसार इनका प्रचार करने का तरीका भी बदल गया है। संक्रमण काल में कांग्रेस पार्टी ने मास्क के जरिए प्रचार करने का तरीका अख्तियार किया है। पार्टी की ओर से बांटे जा रहे मास्क में चार नेताओं की तस्वीरें है।

पूर्व मुख्यमंत्री व मरवाही विधानसभा क्षेत्र के विधायक अजीत जोगी के निधन के बाद मरवाही सीट खाली हो गई है। रिक्त सीट पर उपचुनाव होना है। सत्ताधारी दल के अलावा प्रमुख विपक्षी भाजपा की चुनावी तैयारी शुरू हो गई है। कोरोना संक्रमणकाल के दौर में होने वाले उपचुनाव में राजनीतिक दलों के प्रचार का तरीका भी बदला-बदला नजर आ रहा है। राजनीतिक दलों के रणनीतिकारों ने इस बार मतदाताओं और चुनाव प्रचार करने वाले कार्यकर्ताओं को पार्टी चुनाव चिन्ह वाला मास्क बांटने का काम शुरू कर दिया है। मास्क लगाने की अनिवार्यता के बीच चुनाव चिन्ह लगे होने से अपने आप प्रचार होता रहेगा।

राशन के साथ बांट रहे मास्क

कांग्रेस के कार्यकर्ता ग्रामीण इलाको में कोरोना संक्रमण के दौर में गरीबों को राशन बांट रहे हैं। साथ ही मास्क लगाने की समझाइश भी दे रहे हैं और मास्क भी बांट रहे हैं। एक मास्क में राहुल और सोनिया गांधी की फोटो है तो दूसरे में सीएम भूपेश बघेल और स्पीकर डॉ. चरणदास महंत की।

सांसद ने की थी शुरुआत

सांसद अरुण साव ने मरवाही विधानसभा में संपर्क अभियान की शुरुआत की थी। तब कोरोना का फैलाव भी तेजी से हो रहा था। सांसद ने कार्यकर्ताओं के अलावा ग्रामीणों को मास्क बांटे थे।

One Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.