मतदाता जागृति मंच के राष्ट्रीय अध्यक्ष नन्दकुमार ने स्व. एमडब्लयूके खोखर को श्रद्धांजलि दी… कहा- ग्रामीणों के लिए एक विश्वविद्यालय और बुद्धमंगल भवन बनने चाहिए…

बिलासपुर। अचानकमार की नैसर्गिक सुंदरता के मध्य बिन्दावल ग्राम के पास स्थित मैकू गोंड के मठ और उसी से लगे हुए कोटा रेंज के तत्कालीन रेंजर स्व. एमडब्लयूके खोखर के शिलालेख पर बीते गुरुवार को मतदाता जागृति मंच के राष्ट्रीय अध्यक्ष नन्दकुमार बघेल ने श्रद्धांजलि अर्पित की। स्व. खोखर के 8 वर्षीय प्रपौत्र अदीब खान ने भी अपने पूर्वज को श्रद्धासुमन अर्पित किए। 

बघेल ने बिन्दावल ग्राम में आदिवासियों की एक सभा को सम्बोधित करते हुए ग्रामीणों के लिए एक विश्वविद्यालय एवं बुद्धमंगल भवन बनवाने की इच्छा प्रकट की। ग्रामवासियों की ओर से बिन्दावल के सरपंच रामावतार जायसवाल ने गांव के विस्थापन से सम्बंधित परेशानियों से अवगत कराया। उन्होंने कहा कि जब तक उन्हें विस्थापित नहीं किया जाता, तब तक उन्हें जीवन की बुनियादी सुविधाओं से वंचित न किया जाए। इस अवसर पर मतदाता जागृति मंच की महिला मंच की प्रदेशाध्यक्ष, सायमा खान खोखर, अतहर अली समेत बड़ी संख्या में ग्रामीणजन उपस्थित थे।

स्व. मैकू ने किया था शेर का शिकार

ज्ञात हो कि अचानकमार से कुछ किलोमीटर की दूरी पर बिन्दावल ग्राम से लगभग दो किलोमीटर पहले सड़क के किनारे मैकू गोंड की स्मृति में एक मठ बना हुआ है। मैकू गोंड वन विभाग में “फायर वॉचर” थे, जो 10 अप्रैल 1949 को इसी स्थान पर एक आदमखोर शेर के शिकार बन गए। पास ही एक शिलालेख में अंकित है कि इसी स्थान पर कोटा फारेस्ट रेंज के तत्कालीन रेंज अफसर स्व. एमडब्लयूके खोखर ने 13 अप्रैल 1949 को उस आदमखोर शेर को मार गिराया था।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.