राजनीतिक बयानबाजी: कांग्रेस ने 15 साल के कार्यकाल को लेकर भाजपा से पूछे 15 सवाल…

रायपुर। प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि (BJP) भाजपा ने छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) की जनता से 15 साल के शासन में किए वादों को पूरा नहीं किया। भाजपा को अपने 2003, 2008 और 2013 के घोषणापत्र पर आत्ममंथन करना चाहिए। कांग्रेस सरकार पर आरोप लगाने से पहले भाजपा को उसके 15 साल के कुशासन पर इन 15 सवालों के जवाब देने चाहिए।

कांग्रेस (Congress) ने पूछा, 12वीं पास युवाओं को 500 रुपये बेरोजगारी भत्ता देने का वादा किया था, 15 साल में कितने युवाओं को मिला? आउटसोर्सिंग के जरिए युवाओं का रोजगार क्यों बेचते हैं? भाजपा ने प्रत्येक आदिवासी परिवार के एक व्यक्ति को सरकारी नौकरी और 10 लीटर दूध देने वाली गाय को देने का वादा किया था, क्यों नहीं? किसानों को उनकी उपज का सही मूल्य मिलेगा, किसानों का धान पूरी तरह से खरीदा जाएगा और उन्हें बेचने और भुगतान करने के लिए सोसायटी और कार्यालय का चक्कर नहीं लगाना पड़ेगा।

किसानों से किया वादा क्यों पूरा नहीं किया? एक गांव एक प्रहरी योजना के तहत राज्य सरकार द्वारा प्रत्येक गांव के 20 हजार युवक या युवतियों को प्रहरी बनाया जाएगा। इन बीस हजार बेरोजगारों को रोजगार क्यों नहीं दिया गया? गोहत्या पर पूर्ण रूप से प्रतिबंध रहेगा, पशु-पक्षियों को होगा समृद्ध, गाय की रक्षा और उसकी नस्ल सुधारने के उपाय क्यों नहीं किए गए? भाजपा नेताओं की सब्सिडी वाली गोशालाओं में गायों की हत्या के लिए कौन जिम्मेदार है? राज्य सरकार द्वारा किसानों के धान पर 270 रुपये प्रति क्विंटल का बोनस दिया जाएगा, क्यों नहीं दिया गया?

किसके कहने पर बदली शराब नीति policy

कांग्रेस ने पूछा कि आदिवासियों के अवैध कब्जे और जमीन की खरीद के मामले में आदिवासियों के अधिकारों की रक्षा के लिए कानून क्यों नहीं बनाया गया। पांच हॉर्स पावर तक के पंपों को मुफ्त बिजली देने का वादा किसानों से क्यों नहीं किया गया? किसानों (Former) को ब्याज मुक्त ऋण क्यों नहीं दिया गया? धान का न्यूनतम समर्थन मूल्य 2100 प्रति क्विंटल क्यों नहीं दिया गया? किसानों का एक-एक धान नहीं खरीदा गया? पांच साल से 300 रुपये प्रति क्विंटल धान का बोनस क्यों नहीं दिया गया? सरकारी रिक्तियों पर सीधी भर्ती क्यों नहीं की गई? छोटे भूखंडों की रजिस्ट्री पर रोक क्यों लगाई गई? 138 साल पुरानी शराब नीति क्यों और किसके इशारे पर बदली गई?

Leave a Reply

Your email address will not be published.