बिलासपुर: रेड चिली बार के लाइसेंस पर मंडराया खतरा… मनजीत सिंह के खिलाफ खड़ा हुआ हुआ पूरा परिवार… जानिए क्या है पूरा मामला…

बिलासपुर। राजकिशोर नगर स्थित होटल शिवम पाइंट लॉजिंग एंड रेस्टोरेंट में फर्जी दस्तावेज और फर्जी हस्ताक्षर से रेड चिली बार संचालित करने की शिकायत उपायुक्त आबकारी से की गई है, जिस पर सीपत वृत्त के सहायक आबकारी अधिकारी से तीन दिनों में जांच रिपोर्ट मांगी गई है।

बिलासपुर शहर निवासी स्व . गोविन्द सिंह गुम्बर की पत्नी अमृत कौर गुम्बर, पुत्र गुरुचरण सिंह और मनेन्द्र सिंह ने 5 जनवरी 2021 को उपायुक्त आबकारी को लिखित शिकायत करते हुए बताया था कि राजकिशोर नगर बिलासपुर में स्थित होटल शिवम पाइंट लाजिंग एंड रेस्टोरेन्ट में रेड चिली बार के संचालक मनजीत सिंह गुम्बर द्वारा फर्जी दस्तावेज प्रस्तुत कर एवं फर्जी हस्ताक्षर कर बार का लाइसेंस प्राप्त किया गया है। जिस भवन को 10 कमरों का होटल बताकर बार का लाइसेंस प्राप्त किया गया है, वहां कोई होटल संचालित ही नहीं है। उपरोक्त परिसर राजकिशोर नगर में स्थित है, जिसका खसरा नं . 54/36 एवं 54/86 है। जो राजस्व रिकार्ड में स्व. गोविन्द सिंह गुम्बर के नाम से दर्ज है। स्व . गोविन्द सिंह गुम्बर के निधन के पश्चात उक्त संपत्ति का बंटवारा उनके वारिसों में होना है, जो उनकी पत्नी अमृत कौर गुम्बर, पुत्र क्रमशः गुरुचरण सिंह, मनजीत सिंह, मनेन्द्र सिंह, राजेन्द्र सिंह एवं पुत्रियां क्रमशः अनिता छाबड़ा एवं उषा सलूजा के नाम से दर्ज होना है। उनका कहना है कि नियमानुसार बार लाइसेंस के आवेदन के लिए संबंधित परिसर यदि स्वयं का न हो तो किराए के परिसर का रजिस्टर्ड किरायानामा प्रस्तुत करने का नियम निर्धारित है, लेकिन रेड चिली बार में ऐसा किसी भी नियम का पालन नहीं किया गया है। रेड चिली बार के लिए जिस परिसर को होटल के रूप में दर्शाया गया है, वह पैतृक संपत्ति होने के कारण परिवार के समस्त सदस्यों का उस पर कब्जा / अधिकार है। ऐसी स्थिति में अनुमति पत्र में परिवार के सभी सदस्यों की सहमति आवश्यक है, किन्तु मनजीत सिंह द्वारा परिवार के किसी भी सदस्य से सहमति पत्र में हस्ताक्षर नहीं कराया गया है। इसके विपरित मनजीत ने अपनी मां अमृत कौर का फर्जी हस्ताक्षर करके फर्जी दस्तावेज बनाकर बार का लाइसेंस प्राप्त कर लिया गया है, яндекс जो पूर्णतः गलत है। शिकायत को गंभीरता से लेते हुए उपायुक्त ने सीपत वृत्त के सहायक आबकारी अधिकारी का जांच अधिकारी बनाया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.