छत्तीसगढ़ में सियासी उठापठक का पटाक्षेप… चंदूलाल चंद्राकर मेडिकल कॉलेज के अधिग्रहण का रास्ता साफ…

भिलाई। दो दिन की सियासी उठापटक और बयानबाजी के बाद दुर्ग मेडिकल कॉलेज का रास्ता साफ हो गया है. छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार दुर्ग स्थित चंदूलाल चंद्राकर मेडिकल कॉलेज का अधिग्रहण करने जा रही है। इसके लिए सरकार आज विधानसभा में एक विधेयक लेकर आई है। इससे पहले 20 जुलाई को हुई भूपेश बघेल कैबिनेट में इसे हरी झंडी मिल गई थी।

 

हालांकि इस मामले में राजनीति भी खूब हो रही है. वहीं जब सदन में सरकार की ओर से विधेयक पेश किया जा रहा था तो भाजपा विधायक बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि मूल विधेयक को कानून के खिलाफ लाया जा रहा है. भाजपा विधायक अजय चंद्राकर ने कहा कि यह मूल विधेयक है। कोई संशोधित विधेयक नहीं है। अगर आज ऐसा होता है तो यह एक परंपरा बन जाएगी।

 

भाजपा विधायकों की आपत्ति के बीच स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने छत्तीसगढ़ चंदूलाल चंद्राकर मेमोरियल मेडिकल कॉलेज दुर्ग (अधिग्रहण) विधेयक 2021 पेश किया। सिंहदेव ने कहा कि मैं यह भी आश्वासन देता हूं कि इस अधिग्रहण के बाद किसी की देनदारी में कोई दिक्कत नहीं होगी.

यह माजरा हैं

चंदूलाल चंद्राकर मेडिकल कॉलेज का नाम दुर्ग से पांच बार लोकसभा सांसद रहे चंदूलाल चंद्राकर के नाम पर रखा गया है। 1995 में उनका निधन हो गया। दो साल बाद इस कॉलेज की स्थापना हुई। साल 2017 में दाखिले के बाद मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया ने 2018 में कॉलेज की मान्यता रद्द कर दी।

 जानकारी के मुताबिक कॉलेज पर करोड़ों की देनदारी भी है. ये देनदारियां 140 करोड़ से ज्यादा बताई जा रही हैं। अब भूपेश बघेल सरकार कानून के जरिए इस मेडिकल कॉलेज का अधिग्रहण करने जा रही है। इस संबंध में आज विधानसभा में एक विधेयक पेश किया गया है। जिसका प्रस्ताव पहले ही कैबिनेट में पारित हो चुका है। इस अधिग्रहण से पहले प्रवेश लेने वाले करीब 150 छात्रों का भविष्य भी सुरक्षित होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.